क्रिकेट सट्टेबाजी में चावला के जुड़ा था दाऊद : ईश्वर

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

यूट्यूब पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्सक्राइब करे …..

नई दिल्ली ब्रिटेन से प्रत्यार्पित कराकर भारत लाये गये अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट सट्टेबाज संजीव चावला के भारत पहुंचते ही खुलासा हुआ है कि अंडरवर्ल्ड सरगना दाउद इब्राहिम के तार भी उससे जुड़े थे। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सट्टेबाजी का सबसे पहले खुलासा करने वाले दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह अब दिल्ली के दक्षिणी जिले के सफदरजंग इन्क्लेव सब-डिवीजन में सहायक पुलिस आयुक्त के पद पर तैनात ईश्वर सिंह ने कहा कि संजीव चावला को मैंने पहली बार मार्च 2000 में देखा।।”
उसी दौरान मुझे दुबई से आई एक टेलीफोन कॉल पर संदेह हुआ। छानबीन की और टेलीफोन की बातचीत सुनी तो वो नंबर दिल्ली पुलिस को कैसेट किंग गुलशन कुमार के छोटे भाई किशन कुमार तक ले गया। कड़ी से कड़ी मिलती गयी। इसी बीच मुझे राजेश कालरा नाम के एक अंतर्राष्ट्रीय सट्टेबाज की टेलीफोन-मोबाइल पर हो रही बातचीत सुनने को मिल गई। यह बातचीत संजीव चावला और हैंसी क्रोनिये के बीच थी।”
मेरी ही शिकायत पर 6 अप्रैल 2000 को दिल्ली पुलिस ने आपराधिक मामला दर्ज किया।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सट्टेबाजी के काले कारोबार में संजीव चावला, दुबई, लंदन और दाऊद की भूमिका पर पूछे गए सवाल के जवाब में एसीपी ईश्वर ने कहा, ” संजीव चावला दिल्ली पुलिस के हाथ लगा ही नहीं था। लिहाजा इस पर ठोस तरह से कुछ बयान देना संभव नहीं है। हां, मैंने इस केस की सबसे पहले जांच की थी। ऐसे में जो कुछ उस दौरान मैंने अपनी आंखों से देखा और कानों से सुना था, उसके मुताबिक मैं दावा कर सकता हूं कि दाऊद इब्राहिम ने अपने गुर्गे संजीव चावला के साथ फिट कर रखे थे। अब चावला को भारत लाये जाने के बाद मैच फिक्सिंग में फंसे कई नामों का खुलासा हो सकता है।