सीधी को स्मार्ट सिटी के नाम पर लाली पॉप,जिले में निगरानी के लिए नहीं लगा है सीसीटीवी कैमरा…

592
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

पोल खोल पोस्ट सीधी
15 साल बीजेपी की सरकार गुजरने के बाद साल भर से ऊपर कांग्रेश की सरकार है ,नेताओं के बड़े-बड़े भाषण में सीधी का विकास तो हो जाता है लेकिन धरातल पर सीधी आज भी विकास की बाट जोह रही है,वही सीधी को स्मार्ट सिटी दर्जा देने के नाम पर सिर्फ लॉलीपॉप दिया गया है क्योंकि दिन-ब-दिन बढ़ते अपराध को लेकर शहरवासी काफी चिंतित है । आए दिन लूट ,हत्या, बलात्कार, आगजानी, छेड़छाड़ ,की घटनाओं में शहर के अंदर काफी बढ़ोतरी हुई है, वहीं शहर के बीचों-बीच दर्जनों कोचिंग क्लासेस तक चलते हैं लेकिन उनकी सुरक्षा भगवान भरोसे है, वही क्राइम करने की बाद आरोपियों की पहचान नहीं हो पाने के कारण पकड़ पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है जिसका नतीजा यह निकलता है कि दिनों बाद इन क्राइम बढ़ता जा रहा है।

यह जगह है संवेदनशील

बढ़ते क्राइम को लेकर यह जगह संवेदनशील माने गए हैं अस्पताल चौराहा ,कलेक्ट्रेट चौक ,पुलिस लाइन, संजय गांधी कॉलेज, न्यू बस स्टैंड पुराने बस स्टैंड ,पटेल पुल, अम्हा तिराहा ,डेनिहा, आर्या पब्लिक स्कूल, नवीन नेटवर्क, गांधी चौराहा, सब्जी मंडी, सम्राट चौराहा, इन जगहों पर अधिकतम क्राइम का ग्राफ बढ़ा है, लेकिन आरोपियों की पहचान के लिए सीसीटीवी कैमरा तक नहीं लगाया गया है।

इन जगहों पर लगे थे कैमरे
जिले में गांधी चौराहा अस्पताल चौराहा में कुछ टाइम के लिए कैमरे तो लगे थे लेकिन आज उन सीसीटीवी कैमरों का अता पता नहीं है, सूत्रों की माने तो कुछ कैमरे खराब होने की वजह से निकाले गए थे लेकिन आज तक वह वापस नहीं लग पाए हैं वही नगर पालिका अधिकारी से बात करने पर स्पष्ट शब्दों में बताया गया कि नगरपालिका की तरफ से शहर में कोई भी कैमरा नहीं लगा है,