हैदराबाद की तर्ज पर घटना को अजांम देने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार,किशोरी बरामद

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

यूट्यूब पर विडियो देखने के लिए क्लिक करे और सब्स्क्राइब करे।…

अलीगढ़ । थाना जंवा क्षेत्र के गांव में हापुड़ की एक किशोरी को एक माह तक सामूहिक दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने किशोरी के साथ गैंगरेप करने के बाद खुद को बचाने के लिए किशोरी को मारने का प्लान तैयार किया था। पुलिस के अनुसार हैदराबाद की डॉक्टर बेटी के साथ हुई घटना को देख यह प्लानिंग बनाई थी।
ठिकाने लगाने के इरादे से पहुंचे कार सवार चार युवकों को ग्रामीणों ने दबोच लिया। किशोरी को बचाते हुए उन्होंने हंगामा किया। इस बीच दो आरोपी भाग गए। सूचना पर पहुंची पुलिस को देख ग्रामीणों ने किशोरी को एक घर में छिपा दिया।
आरोपियों की पिटाई करते हुए किशोरी को इंसाफ दिलाने की मांग पर अड़ गए। हंगामे पर बरौली विधायक सहित आलाधिकारी भारी फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस ने किशोरी एक घर से बरामद कर थाने ले गई। हापुड़ की शहर कोतवाली पुलिस को दी गई। साथ ही आरोपियों और पीड़िता को हापुड़ पुलिस के हवाले कर दिया है। वहीं, सरकारी कार्य में बाधा डालने और पुलिस से अभद्रता करने के मामले में तीन नामजद सहित 60 अज्ञात लोगों पर जवां थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।
हापुड़ शहर के भट्ठा कॉलोनी के पास रहकर अपनी होंडा सिटी कार चलाने वाला राजू उर्फ अशोक पुत्र तेजपाल निवासी शीलमपुरा सिंघानी गेट गाजियाबाद 10 नवंबर को भट्ठा कॉलोनी हापुड़ निवासी 16 वर्षीय एक किशोरी को अपने साथ बहला फुसलाकर ले गया था। 19 नवंबर को किशोरी के परिवार ने अज्ञात में रिपोर्ट दर्ज कराई। बुधवार सुबह किशोरी के जवां थाना क्षेत्र के गांव खुर्द खेड़ा में होने और उसे लाने वाले आरोपियों के बारे में पता लगते ही गांव वालों ने सभी को घेर लिया। किशोरी सहित आरोपी राजू उर्फ अशोक और उसके मामा के बेटे राजा पुत्र जगदीश निवासी नंदीगांव सिंघानी गेट गाजियाबाद पकड़ लिया। जबकि राजू का साला बनवारी पुत्र छोटेलाल निवासी दासपुर चंदौसी समेत दो युवक भाग निकले।
ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दे दी और किशोरी को एक घर में छिपा दिया। पुलिस ने गांव पहुंचकर दोनों युवकों को हिरासत में ले लिया। ग्रामीण भड़क उठे और पुलिस हिरासत में मौजूद आरोपियों को सौंपने की मांग करने लगे। इस पर पुलिस की ग्रामीणों से नोकझोंक भी हुई। साथ ही विधायक को बुलाने की मांग करने लगे।
एसओ नरेश कुमार ने उच्चाधिकारियों को सूचना दी। कुछ देर में सीओ तृतीय के नेतृत्व में भारी फोर्स गांव पहुंच गया। पुलिस किशोरी को एक घंटे तक गांव में खोजती रही। वहीं, विधायक दलवीर सिंह ने ग्रामीणों को समझाया, तब कहीं खेड़ा खुर्द निवासी जसवंत पुत्र मुरारीलाल के घर से किशोरी बरामद हुई।
किशोरी ने बताया कि आरोपी युवकों ने उसके साथ बलात्कार किया। वह उसको जलाकर मार डालना चाहते थे। कार में डीजल रखे थे। किशोरी व आरोपियों को जवां पुलिस थाने ले गई। बाद में सूचना पर पहुंची हापुड़ पुलिस को सौंप दिया। उधर, आरोपियों की होंडा सिटी कार क्षतिग्रस्त करने, सरकारी काम में बाधा डालने में चौकी इंचार्ज कासिमपुर पावर हाउस प्रदीप मलिक की ओर से जसवंत पुत्र मुरारी लाल, धर्मवीर पुत्र मुरारीलाल, विपिन पुत्र मुरारी लाल समेत गांव के करीब 60 लोगों पर रिपोर्ट दर्ज हुई है।
राजू उर्फ अशोक ने बताया कि 10 नवंबर को किशोरी को अपने साथ ले जाने के बाद एक सप्ताह तक हापुड़ में ही अपने साथ रखा। इसके बाद एक सप्ताह आगरा में होटल में और एक सप्ताह अतरौली (अलीगढ़) में रखा। फिर अपने साले बनवारी के हवाले कर दिया। वह अपनी रिश्तेदारियों, मित्रों के यहां लेकर किशोरी को घूमता रहा। मंगलवार को बनवारी अपनी ससुराल खुर्दखेड़ा निवासी जसवंत सिंह के यहां आया था। खबर पाकर राजू उर्फ अशोक अपने मामा के बेटे राजा पुत्र जगदीश के साथ मंगलवार की रात खुर्द खेड़ा पहुंचा। खुर्दखेड़ा के पास बहादुरपुर प्राथमिक विद्यालय में रात करीब 9 बजे सभी मिले। वहां अशोक और बनवारी में झगड़ा हो गया। इसके बाद बनवारी किशोरी को लेकर अपनी ससुराल जसवंत सिंह के यहां चला गया। अशोक और राजा कार में ही रात भर रहे। बुधवार की सुबह वह एक दुकान पर चाय पी रहे थे तभी गांव वालों ने पकड़ लिया। अशोक ने बताया कि उसने तीन चार दिन पहले किशोरी की पिटाई भी की थी।
क्या कहते हैं सीओ
सीओ सिविल लाइंस – अनिल समानिया ने बताया कि किशोरी ने पूछताछ में बताया है कि एक माह तक आरोपियों ने उसके साथ गैंगरेप किया। किशोरी का मेडिकल कराया गया है। साथ ही पूरे मामले की जानकारी हापुड़ पुलिस को देकर आरोपियों और किशोरी को उनके सुपुर्द कर दिया है। आगे की कार्रवाई वहीं से होगी। जवां थाने में तीन नामजद सहित 60 अज्ञातों पर सरकारी कार्य में बाधा, तोड़फोड़, पुलिस से अभद्रता का मुकदमा दर्ज किया गया है।