सिहावल के बल्हया में धू- धू कर जला दशानन, अधर्म पर हुई धर्म की विजय..

1025
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

सीधी। धर्म की अधर्म पर, अच्छाई की बुराई का प्रतीक विजयादशमी का पर्व मंगलवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जनपद पंचायत सिहावल अन्तर्गत ग्राम पंचायत बल्हया के रामलीला मैदान में जैसे ही राम ने रावण के पुतले का दहन किया, पूरा रामलीला मैदान जय श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा। बल्हया में आयोजित दशहरा उत्सव समिति में मुख्य अतिथि सिहावल जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह, अध्यक्षता एस डी एम सुधीर कुमार बेक, एवं विशिष्ट अतिथि एसडीओपी लक्ष्मण अनुरागी सीईओ सिहावल अशोक तिवारी रमेश पटेल की उपस्थिति में रामलीला मैदान बल्हया में रावण दहन किया गया।

रावण दहन के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह ने सभी क्षेत्रवासियों को दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अन्याय अत्याचार बुराई को त्याग कर अच्छाई को अपनाएं जिससे समाज समृद्ध साली बन सके उन्होंने कहा कि जिस तरह भगवान राम में अहंकारी रावण का वध कर असत्य पर सत्य की विजय हासिल किए थे उसी प्रकार हम सबको सत्य का मार्ग अपनाकर एक नए समाज का निर्माण करना है। जनपद अध्यक्ष श्री सिंह ने रामलीला मंडली को 25 हजार रुपए नगद एवं रामलीला मंडली की मांग पर पंचायत मंत्री कमलेश्वर पटेल की तरफ से जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह ने प्रतीक्षालय के लिए ढाई लाख रुपए देने की घोषणा की।

रावण पुतला दहन कार्यक्रम में शाम छह बजे से रामलीला का मंचन शुरू किया किया गया। इस दौरान कुंभकर्ण को नींद से जगाने, लक्ष्मण मेघनाथ युद्ध, राम-रावण युद्ध, रावण वध, रावण द्वारा लक्ष्मण को दीक्षा देने सहित अन्य लीलाओं का भावपूर्ण मंचन किया गया। मैदान में रावण के ऊंचे पुतले का दहन लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा।

रावण दहन कार्यक्रम में मुख्य रूप से अमिलिया थाना प्रभारी दीपक बघेल, सिहावल चौकी प्रभारी रामदीन सिंह, रामविलास पटेल सरपंच ग्राम चितवरिया, हीरा पटेल सरपंच ग्राम बल्हया, सहित जनप्रतिनिधि एवं हजारों ग्रामीणों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।