सीधी मझौली आर्केस्ट्रा धूम के साथ मनाया गया दशहरा उत्सव,दुर्गा झांकियों को किया गया पुरस्कृत..

515
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

सीधी मझौली:- नगर परिषद मझौली का सामूहिक दशहरा उत्सव समारोह कालेज मैदान में आयोजित किया गया। जहां समारोह के मुख्य अतिथि अभ्युदय सिंह अध्यक्ष जिला पंचायत सीधी एवं समारोह की अध्यक्षता नगर परिषद की अध्यक्ष रूबी सिंह के द्वारा की गई। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में एके सिंह उपखंड अधिकारी, चंद्रमणि सोनी तहसीलदार, लालजी सिंह प्रभारी मुख्य नगरपालिका अधिकारी ,राघवेंद्र द्विवेदी नगर निरीक्षक समारोह में शिरकत किए।
कार्यक्रम के शुरुआत में आर्केस्ट्रा टीम द्वारा गणेश भगवान एवं आदिशक्ति दुर्गा मां की पूजा अर्चना एवं वाणी बंदना से शुरू किया गया। जो कुछ देर बाद पूरा वातावरण भाव भक्ति से सरावोर हो गया।एवं पूरा समारोह स्थल मां दुर्गा के जयकारों से गूंज उठा।जिला प्रशासन के तरफ से आए कमल श्रीवास्तव एवं श्री शुक्ला द्वारा नशा मुक्ति पर संदेश दिया गया। जिसमें बताया गया कि 1 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक पूरे देश व प्रदेश में नशा मुक्ति का अभियान चल रहा है जो बहुत ही उपयोगी है।इस अभियान में शराब, गांजा ,अफीम,कोरेक्स, कोकीन, जैसे मादक पदार्थों का शरीर व समाज पर किस तरह दुष्प्रभाव होता है।जिसे बताया गया एवं नशा मुक्ति के लिए संकल्प दिलाया गया। वही देर रात 12:00 बजे रावण दहन का कार्यक्रम शुरू हुआ जहां वेरीकेट के घेरे में बनाए गए रावण के पुतला को मुख्य अतिथि के द्वारा अग्निबाण से प्रहार कर दहन किया गया। वही काफी देर तक पटाखों से पूरा वातावरण गुंजायमान हो गया और आतिशबाजी की गई।
कार्यक्रम के अंत में पूर्व वर्षों की भांति इस वर्ष भी निर्णायक कमेटी द्वारा समारोह में शामिल हुई सभी दुर्गा झांकियों का अवलोकन किया गया एवं अवलोकन के बाद उन्हें उसी अनुपात से अंक दिए गए। एवं अंक के आधार पर प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान के लिए झांकियों का निर्धारण किया गया। जिसमें नव दुर्गा उत्सव समिति गल्ला मंडी प्रथम, केसरवानी दुर्गा उत्सव समिति भैंसवाही द्वितीय एवं संजय सिंह नव दुर्गा उत्सव समिति भैसवाही को तृतीय स्थान मिला।समारोह के आयोजक नगर परिषद द्वारा तीनों झांकियों को कप देकर पुरस्कृत किया गया। वहीं शेष सभी झांकियों के आयोजन समिति को सांत्वना पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। बताते चलें कि झांकियों को प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान के लिए चयनित करने के लिए पूर्व में उपखंड अधिकारी मझौली के मार्गदर्शन में बैठक आयोजित की गई थी जिसमें कहा गया था कि सिर्फ समारोह के दिन ही झांकियों को देखकर उनका अंक निर्धारण न किया जाए बल्कि समारोह के 5 दिन पूर्व से ही निर्णायक मंडल द्वारा सभी झांकियों का अवलोकन कर उनके प्रत्येक मापदंड को ध्यान में रखते हुए समारोह दिनांक को अंक निर्धारण किया जाए। जिसके अनुसार निर्णायक समिति ने शिव दुर्गा उत्सव समिति को प्रथम एवं श्री राम दुर्गा उत्सव समिति को द्वितीय स्थान दिया गया था। लेकिन इन समिति की झांकियां समारोह में शामिल नहीं हुई। जिससे इनको निरंक करते हुए अन्य झांकियों को पुरस्कृत किया गया।
व्यवस्था रही चाक-चौबंद

दशहरा उत्सव समारोह अनुशासित एवं शांति पूर्ण तरीके से संपादित हो।जिसके लिए पूर्व से ही उपखंड अधिकारी एके सिंह द्वारा बैठक कर विशेष दिशा-निर्देश जारी करते हुए व्यवस्था बनाए रखने का निर्देश जारी किया गया था। जिसका जिम्मेदार विभाग प्रमुखों द्वारा पालन किया गया। जिसका नतीजा रहा कि काफी तादाद में लोगों के शामिल होने के बावजूद पूरा समारोह शांतिपूर्ण एवं उत्साह पूर्वक संपादित हुआ।