जिले भर में हर्षोल्लास से मना ईद उल जुहा का त्यौहार,ईदगाह में मुस्लिम भाईयों ने अदा की ईद की नमाज…

393
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

पोल खोल पोस्ट। सीधी जिले भर में कल बकरीद का त्यौहार हर्षोल्लास मनाया गया। हालांकि कोरोना की वजह से लोगों को अपने घर से नमाज अदा करने को कहा गया था फिर भी काफी संख्या में मुस्लिम भाईयों ने ईदगाह में पहुंच कर नमाज अता की। ईद की नमाज के बाद मुस्लिम भाईयों ने एक-दूसरे के गले मिलकर उन्हें ईद की मुबारक वाद दी। बकरीद के त्यौहार को लेकर कल सुबह से ही मुस्लिम भाईयों में काफी उत्साह बना हुआ था। वो नए कपड़े में सज-धज कर नमाज अदा करनें के लिए ईदगाह पहुंचे। काफी संख्या में बच्चे भी नमाज अदा करनें के लिए पहुंचे। बकरीद के त्यौहार को लेकर कई दिनों से कुर्बानी देने के लिए बकरों का इंतजाम किया जा रहा था। बकरीद के चलते बकरों के दाम भी काफी ऊंचे हो गए थे। फिर भी आर्थिक रूप से संपन्न मुस्लिम परिवारों ने कुर्बानी के लिए बकरे का इंतजाम किया था। बकरीद के त्यौहार की धूमधाम जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में भी देखी गई। इस्लाम धर्म में ईद का त्यौहार बहुत खास माना जाता है। साल में ईद दो बार आती है। एक बार मीठी ईद और इसके बाद बकरीद। मीठी ईद को ईद उल फितर कहा जाता है, जबकि बकरीद को बकरा ईद उल जुहा या ईद अल अधा कहा जाता है। रमजान के बाद मीठी ईद मनाई जाती है जिसमें सेवइयां खाने का चलन है, जबकि बकरीद पर बकरे की बलि दी जाती है। 
जिले भर में रही बकरीद की धूम
बकरीद का त्यौहार कल सीधी शहथ के साथ ही रामपुर नैकिन, चुरहट, सेमरिया, मड़वास, सिहावल, मझौली क्षेत्र में उल्लास के साथ मनाया गया। कोरोना की बंदिशों के चलते ईद उल जुहा पर रैली नहीं निकाली गई। शांति पूर्वक मुस्लिम भाईयों ने ईदगाहों में पहुंच कर ईद की नमाज देश की खुशहाली के लिए अदा की। बकरे की कुर्बानी को लेकर भी मुस्लिम भाईयों ने इस्लाम में प्रचलित परंपराओं के अनुसार लोगों को दावत दी। जिसके चलते कुर्बानी के त्यौहार को मनाने के लिए लोगों की आवाजाही देर रात तक बनी रही। मुस्लिम भाईयों को ईद उल जुहा त्यौहार पर बधाई देने वालों में हिंदू भी काफी संख्या में शामिल थे। जिले भर में पुलिस प्रशासन सुबह से ही पूरी तरह से एलर्ट था। ईदगाह की ओर जाने वाले मार्गों में पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई थी। ईदगाह में भी पुलिस बल मौजूद था। बड़े अधिकारी भी लगातार पेट्रोलिंग कर व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहे और पुलिस कर्मियों को आवश्यक निर्देश भी दिए।