ऑपरेशन थिएटर को खुद ऑपरेशन की दरकार,जिला अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर का हाल बेहाल…

308
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

पोल खोल पोस्ट। सीधी जिले से दो सांसद तथा तीन विधायक सीधी में सत्ता पक्ष के सरकार में हैं तो वहीं एक विधायक विपक्ष के हैं लेकिन ना माननीयों ने पहल की और ना ही  जिला प्रशासन ने पहल की परिणामतह: यहां आज तक स्वास्थ्य व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पाई है। प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधि मौन धारण किए हुए हैं जहां आज सीधी के जिला अस्पताल को खुद ही उपचार की जरूरत है। हैरानी एवं शर्मनाक बात ये है कि ऑपरेशन थिएटर तक कई महीनों से बंद पड़ा है जहां जिले भर के मरीजों को खासी परेशानी का सामना उठाना पड़ता है। लेकिन प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधियों तक किसी को चिंता नहीं है।
दो करोड़ रुपये की हुई थी मंजूरी
उल्लेखनीय है कि बीते वर्ष जिले के पूर्व कलेक्टर अभिषेक सिंह द्वारा मॉडलर ऑपरेशन थिएटर बनाने हेतु एनएचएम से 2 करोड़ रुपए मंजूर कराया गया था। जिसके लिए बकायदा भोपाल से निर्माण एजेंसी भी तय की गई थी इसी दरमियान सिविल सर्जन रहे डॉक्टर एसबी खरे का तबादला रीवा हो गया और अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. डीके द्विवेदी हो गए थे। उस वक्त जब अस्पताल के सिविल सर्जन को सरकार के द्वारा बदल दिया गया और कुछ दिनों उपरांत तत्कालीन कलेक्टर अभिषेक सिंह सभी स्थानांतरण हो गया। इस सारे घटनाक्रम के दौरान ऑपरेशन थिएटर का काम नहीं शुरू हो पाया और आज भी वो बजट पड़ा हुआ है। वहीं निर्माण एजेंसी का कहना है कि अतीत में कई बार जिला चिकित्सालय एजेंसी के कर्मचारी कार्य करने हेतु आए हैं लेकिन अस्पताल के जिम्मेदार अधिकारियों के द्वारा किसी तरह का सहयोग नहीं किया गया जहां निर्माण एजेंसी बैरंग वापस भोपाल लौट गई है।
जनता को सरकार से है आस
अब जिले की जनता सरकार के ऊपर यह आस लगाए बैठी है की ऑपरेशन थिएटर की मरम्मत करायी जाए और आप्रेशन की व्यवस्था शुरू की जाए। जिला अस्पताल सीधी की स्थिति सालों से दयनीय है यहां ऑपरेशन थिएटर का अभाव लंबे समय से बना हुआ है जिला अस्पताल में एमएलसी के मामलों में रेफर करने का खेल चलता है यदि यहां व्यवस्थित ऑपरेशन थिएटर की सुविधा शुरू हो जाए तो गंभीर रूप से घायलों की जान बचाई जा सकती है। वर्तमान में जिला अस्पताल की हालत ऐसी है कि उसे स्वयं इलाज की जरूरत है ऐसे में ऑपरेशन थिएटर को सरकार की मदद की दरकार है जिससे सीधी जिले के लोगों का ऑपरेशन को लेकर बना भटका समाप्त हो जाएगा।

इनका कहना है
जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ. एसबी खरे ने बातचीत में कहा कि ऑपरेशन थिएटर में बारिश के दरमियान छत से पानी टपकता है जिसके लिए अभी तक बंद पड़ा है। ऑपरेशन थिएटर के मरम्मत हेतु पत्राचार किया जा चुका है। जल्द ही कार्य शुरू हो जाएगा।