आगामी सत्र की तैयारी को लेकर जनपद स्तरीय संकुल शिक्षकों की बैठक को लेकर डायट प्रागण में संपन्न

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान सोनभद्र में जनपद सोनभद्र के संकुल शिक्षकों की जिला स्तरीय बैठक का आयोजन डायट प्राचार्य एवं उप शिक्षा निदेशक मनोहर प्रसाद की अध्यक्षता में आयोजित किया गया

(दिनेश पाण्डेय)

रावर्ट्सगंज/सोनभद्र| प्रथम चरण में उन्मुखीकरण करने के उद्देश्य से घोरावल, चतरा ,राबर्ट्सगंज और नगवां ब्लाक के समस्त संकुल शिक्षकों ने प्रतिभाग किया| इस बैठक में मिशन प्रेरणा के विभिन्न कारकों के बारे में विस्तार से बताया गया जिसमे उन्हें बताया गया कि शासन द्वारा प्रेरणा लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए समय मार्च 2022 से बढ़ाकर मार्च 2023 तक कर दिया गया है क्योकि वैश्विक महामारी कोविड 19 के कारण कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय संचालित नहीं किये गए ऐसे में लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए और भी लगन व परिश्रम से योजना बनाकर कार्य करना होगा ताकि जनपद के सभी परिषदीय विद्यालय प्रेरक विद्यालय बने जिससे यह जनपद भी प्रेरक जनपद बन सके| स्कूल कायाकल्प के 14 कंपोनेंट को तैयार करने के लिए अंतरविभागीय समन्वय से कार्य कराये जा रहे हैं ऐसे में यह सुनिश्चित करना प्रत्येक संकुल शिक्षक का दायित्व बन जाता है कि उनके कार्य क्षेत्र में बाल केन्द्रीत अधोसंरचना का निर्माण हो और सही सूचना को जनपद स्तर तक प्रदान करें ताकि सभी आवश्यक कम्पोनेन्ट संतृप्त हो सकें |

 

 

जनपद में ईपाठशाला के माध्यम से बच्चों तक शिक्षा पहुँचाने का कार्य किया गया लेकिन यह 13 % से अधिक छात्रों तक नहीं पहुँच पाया था लेकिन मोहल्ला क्लास एवं कैंप क्लास के माध्यम से शिक्षकों ने बेहरत परिणाम प्राप्त किया है| समय सारणी बनाकर और कार्य विभाजन कर इसे और बेहतर करने की जरूरत है ताकि जब भी बच्चे विद्यालय लौटें वे एक नए उत्साह के साथ सामान्य स्थिति में अपने अधिगम लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास कर सकें|
डायट प्राचार्य ने 15+ महिला साक्षरता अभियान के लिए डाटा संकलन के कार्य को शीघ्र पूर्ण करने और लोगों को जागरूक करने के लिए संकुल शिक्षकों को प्रेरित किया| उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा पर जनपद में सभी को विशेष ध्यान देने की जरूरत है| कक्षा 5 और कक्षा 8 से उत्तीर्ण होने वाली सभी बालिकाओं का नामांकन अगली कक्षा में अवश्य हो| जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ गोरखनाथ पटेल ने अगले सत्र के लिए नई शिक्षा नीति के मानक के अनुसार छात्र नामांकन करने के हेतु बच्चों का चिन्हांकन करने को कहा| प्रवेश के दौरान लक्षित आयुवर्ग से ऊपर या कम आयु के बच्चों का प्रवेश लेने से बचने को कहा क्योकि इसका असर छात्र के अधिगम स्तर पर भी प्रदर्शित होता है| उन्हें उम्र के अनुसार कक्षा में प्रवेश लें| उन्होंने कहा कि यदपि कि कोविड 19 के लिए टीकाकरण प्रारंभ हो गया है हमें दो गज दूरी, मास्क है जरुरी को अपने और बच्चों के व्यव्हार में लाना होगा|

 

 

विद्यालयों में हैण्डवाश स्टेशन को क्रियान्वित रखना जरुरी होगा| पिरामल शिक्षा से प्रोग्राम लीडर सौम्या सिन्हा ने दीक्षा ऐप व रीडअलोंग ऐप की उपयोगिता और जनपद की स्थिति पर रौशनी डाला| उन्होंने संकुल शिक्षकों को बताया कि किस प्रकार से रीड अलोंग ऐप के माध्यम से बच्चों के पढ़ने के कौशल को बेहतर बनाया जा सकता है| शिव नादर फाउंडेशन से प्रेरणा सारथी बिपिन शुक्ल ने दीक्षा ऐप के माध्यम से चल रहे विभिन्न कोर्स को ससमय पूर्ण अपने शिक्षण कौशल को सुधारने के बारे में बताया| उन्होंने यह भी बताया कि शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले कोर्स का पासबुक भी दीक्षा ऐप में बन गया है जो भविष्य में बहुत ही निर्णायक साबित होगा|

 

 

एसआरजी संजय मिश्र , विनोद कुमार और विद्यासागर ने आधारशिला, ध्यानाकर्षण और शिक्षण संग्रह के बारे में संकुल शिक्षकों से चर्चा की और साथ ही आगामी सत्र में किस प्रकार इसे प्रत्येक विद्यालय में लागू किया के बारे में बताया| जिला समन्वयक बालिका अवधेश कुमार भारती शिक्षा ने मिशन शक्ति के विभिन्न पहलुओं के बारे में बताया| विद्यालय या समाज में लिंग भेद को दूर करना , महिलाओं खिलाफ होने वाली हिंसा या अपराध की शिकायत के लिए 1090, 1070, 189, 112 विकल्पों के बारे में जागरूकता फैलाना, सरकार द्वारा महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के मद्देनजर यह योजना शारदीय से वासंतिक नवरात्रि के बीच (अक्टूबर से अप्रैल) तक मिशन चलाया जा रहा है|

 

 

जिला समन्वयक शिक्षा जय किशोर वर्मा ने सैट 2 के परिणामों का अध्ययन कर यह ज्ञात करने पर बल दिया कि कौन से छात्र ऐसे हैं जिनके लिए उपचारात्मक शिक्षा आयोजित की जानी है साथ ही यह भी देखें कि कौन से सूचकों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है| सभी विद्यालय, ऐसे छात्रों और सूचकों का चिन्हित कर लें| कार्यक्रम का संचालन एआरपी दीनबंधु त्रिपाठी ने किया इस अवसर पर चारों ब्लाक के एआरपी भी मौजूद रहे|