साईन सीटी प्रापर्टीज प्राईवेट लिमिटेड की पर संम्पत्तियो को कुर्क किया जाकर अधिपत्य मे लिए जाने का जिला मजिस्टेट पारित किया आदेश

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

सिंगरौली|  कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राजीव रंजन मीना ने साईन सीटी प्राईवेट लिमिटेड एवं अन्य के नाम दर्ज संम्पत्तियो को कुर्क करने का आदेश पारित करते हुये कुर्क की गई संबंधित साईन सीटी प्रापर्टीज प्राईवेट लिमिटेड की समस्त भूमिया एवं अन्य परसंम्पत्तिया जिला लखनऊ उत्तर प्रदेश मे स्थित है जारी आदेश की प्रति कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेट जिला लखनऊ की ओर इस आशय के साथ भेजी गई है कि समस्त भूमियो एवं अन्य परसंम्पत्तियो को नियमानुसार अधिपत्य मे लिये जाने की कार्यवाही करते हुये इस न्यायालय को अवगत कराये।

 

तथा इस न्यायालय के आगामी आदेश तक पर संम्पत्तियो को शासन के अधिपंत्य मे रखने हेतु समुचित आदेश पारित करे।   विदित हो कि पुलिस अधीक्षक सिंगरौली द्वारा पंत्र क्रमांक /पु00/सिंगरौली/रीडर/एम-293/2021 दिनांक 6 जनवरी 2021 से प्रतिवेदित किया गया है कि आवेदिका सुमन तिवारी पति सुरेश कुमार तिवारी निवासी ओसर गाव पोस्ट बड़महन जिला आजमढ़ हाल मुकाम  लक्ष्मी मार्केट के पास जयंत कोलरी चौकी जयंत थाना विन्ध्य नगर जिला सिंगरौली की ओर से साईन सीटी प्रापर्टीज प्राईवेट लिमिटेड कम्पनी के विरूद्ध प्लाट भू खण्ड देने के नाम पर धोखाधड़ी कर 8 लाख 32 हजार 860 रूपयें हड़प लेने के संबंध मे  शिकायती आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया था।

 

आवेदन पत्र की जॉच मे प्राप्त साक्ष्य एवं अन्य तथ्यो से साईन सीटी प्रापर्टीज लिमिटेड कंम्पनी सहित साजिसकर्ता के विरूद्ध प्रथम दृष्टया धारा 420,406,409,120बीभारतीय दण्ड एवं धारा 6(1) 0प्र0 निक्षेपको के हितो का संरक्षण अधिनियम वर्ष 2000 का अपराध घटित करना पाये जाने से थाना विन्ध्य नगर मे अपराध पंजीबंद्ध कर विवेचना की जा रही है।  वही कम्पनी मे कार्यरत श्याम सुदर सिंह पिता मुन्न सिंह उम्र 35 वर्ष मैनेजर साईन सीटी कंम्पनी,कमल कुमार बेरचा सहित कंम्पनी मे कार्यरत एवं सहयोगियो को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरंक्षा मे जेल भेजा गया है तथा अन्य आरोपी गण घटना दिनांक से गिरफ्तारी के डर से फरार है जिन्हे गिरफ्तार करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। आरोपियो के द्वारा इसी तरह से अन्य आवेदको के साथ कुल 97 लाख 13हजार 660 रूपयें की धोखाधड़ी की गई है। इसके अलावा भी 20 अन्य आवेदको के साथ भी धोखाधड़ी की गई है।

 

अरोपियो के फर्म सीटी प्रापर्टीज प्राईवेट  लिमिटेड के नाम पर दर्ज चल अचल संम्पत्ति की धारा 4 0प्र0 निपेक्षको के हितो का संरक्षण अधिनियम वर्ष 2000 के अंतर्गत कुर्क की कार्यवाही हेतु फार्म के नाम पर दर्ज सम्पत्तियो का व्योरा प्राप्त करते हुये स्थान जिला सहित अचल संम्पत्ति भूमि का विवरण के साथ उक्त प्रावधानो के तहत जिला दण्डाधिकारी के न्यायालय मे प्रावधानो के तहत पंजीबंद्ध कराया गया था जिला मजिस्टेट के द्वारा प्रकरण का अवलोकन करने पर्यन्त पाया गया कि अनावेदक गणो के द्वारा सिंगरौली जिले एवं आस पास के क्षेत्रो मे अपना व्यावसाय प्रारंभ करते हुये आम लोगो को लुभाने लालच देकर उनसे धन राशि विभिन्न उद्देश्यो के लिए प्राप्त की गई है तथा आम लोगो को उनकी निवेश की गई राशि वापस करने के स्थान पर जिले मे अपना व्यवसाय बंद कर अन्यत्र फरार हो गये है

 

 

 

जिले के बाहर जाकर विभिन्न नामो से चल अचल सम्पत्ति अर्जित की गई है। पुलिस अधीक्षक सिंगरौली की ओर से प्रस्तुत प्रतिवेदन एवं सलग्न अन्य अभिलेखो से अधोहस्ताक्षरी का प्रथम दृष्टय यह समाधान हो गया है कि अनावेदक साईन सीटी प्राईवेट लिमिटेड के संचालको के द्वारा कपट पूर्वक प्रलोभन देकर निवेशको को धोखा देने के इरादे से राशि जमा कराने का कार्य कराया गया है। निवेशको के हितो का संरक्षण करने की दृष्टि से अधिनियम 2000 की धारा 4 द्वारा प्रदत्त शक्तियो का प्रयोग करते हुये साईन सीटी प्रापर्टीज प्राईवेट लिमिटेड एवं अन्य के नाम से भूमियो एवं अन्य पर संम्पत्तियो को कुर्क किया जा अधिपत्य मे लिए जाने का आदेश पारित किया गया है।