मैनपुरी: अधिकारियों ने की श्रावण की दुकानों पर की जांच

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

मैनपुरी फीरोजाबाद में शराब पीने से मौत की घटना के बाद प्रशासन चौकन्ना हो गया है। देसी शराब की दुकानों पर कहीं मिलावटी शराब तो नहीं बेची जा रही है, इसे लेकर जांच शुरू कर दी गई है। शनिवार को एएसपी मधुवन कुमार सिंह, सीओ अभय नारायण राय, जिला आबकारी अधिकारी एमपी सिंह ने दुकानों पर पहुंच कर शराब के नमूने लिए। शराब की सरकारी दुकानों पर नकली शराब बेचे जाने के मामले सामने आते हैं। कई दुकानदारों पर कार्रवाई भी हुई है। फीरोजाबाद में शराब पीने से मौतों के बाद प्रशासन सजग हो गया है। शराब की दुकानों पर नकली शराब की बिक्री तो नहीं हो रही है, इसको लेकर अभियान चलाकर जांच शुरू कर दी गई है। आबकारी विभाग और पुलिस की टीमों ने जिले भर में देसी शराब की दुकानों का निरीक्षण शुरू कर दिया है। इस दौरान शराब की बोतलों पर होलोग्राम और रेपर की जांच की जा रही है। शनिवार को अधिकारियों ने कई दुकानों से शराब के नमूने लिए। सीओ सिटी ने बताया कि नमूनों को जांच के लिए लैब भेजा जाएगा। दारोगा पर मारपीट का आरोप : थाना औंछा के गांव देवपुरा निवासी दिनेश कुमार ने थाने के दारोगा सुधीर कुमार और सिपाही रंजीत पर मारपीट करने और थर्ड डिग्री देने का आरोप लगाते हुए एएसपी से शिकायत की है।

 

दिनेश कुमार के मुताबिक 19 नवंबर को वह अपने बीमार पुत्र का इलाज कराने के लिए झोलाछाप के पास गया था। रुपये के लेनदेन को लेकर झोलाछाप उससे झगड़ा करने लगा। तभी दारोगा सुधीर कुमार और सिपाही रंजीत कुमार वहां पहुंच गए और उसे पकड़ कर थाने ले गए। जाति सूचक गाली गलौज कर उसके साथ बेरहमी से मारपीट की। एएसपी मधुवन कुमार सिंह ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है। युवती को अगवा कर बेचने का आरोप : थाना औंछा क्षेत्र की निवासी एक युवती 10 नवंबर को लापता हो गई। स्वजन ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाद में पता चला कि मानिकचंद निवासी फीरोजाबाद ने युवती को अगवा कर बेच दिया है। घटना की तहरीर थाना औंछा में देने के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो युवती के पिता ने एसपी को शिकायती पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की है।