लोकनृत्य एवं लोकसंगीत की हुई मनमोहक प्रस्तुति, सोनांचल महोत्सव का हुआ भव्य आयोजन,महोत्सव कार्यक्रम में शामिल शामिल हुए प्रदेश सरकार के दो मंत्री…

102
लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

पोल खोल पोस्ट सीधी – सोनांचल महोत्सव के आज भव्य आयोजन का शुभारंभ विचार संगोष्ठी के साथ किया गया। जिसमें प्रदेश सरकार की संस्कृत मंत्री सुश्री ऊषा ठाकुर के मुख्य अतिथि एवं पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल की अध्यक्षता में तथा शरदेंन्दु तिवारी,भाजपा के प्रदेश महामंत्री एवं चुरहट विधायक, श्रीमती रीति पाठक सांसद, कुंवर सिंह टेकाम विधायक धौहनी, अभ्युदय सिंह,अध्यक्ष जिला पंचायत सीधी के विशिष्ठ अतिथ्य म़ें हुआ।

भगवान राम का संपूर्ण जीवन सामाजिक मूल्यों का संदेश: अम्बरीश

गोष्ठी के प्रमुख वक्ता श्री अम्बरीश द्वारा भगवान राम के राजा राम से भगवान राम बनने की यात्रा को सविस्तार बताया गया। इसके साथ ही प्रमुख उद्धरणों के माध्यम से उनके द्वारा स्थापित आदर्शों का वर्णन किया गया। उन्होने कहा कि भगवान राम का पूरा जीवन हमें सामाजिक मूल्यों के विषय में बताता है जिसको अपनाकर एक समतायुक्त समाज की स्थापना होगी।

भगवान राम के आदर्शों को जीवन में आत्म सात करने से होगी राम राज्य की स्थापना: पटेल

प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल ने कहा कि देश में सच्चे अर्थों में राम राज्य की स्थापना भगवान राम के आदर्शों को जीवन में आत्मसात करने से होगी। भगवान राम ने अपने जीवन के माध्यम से समाज में आदर्श मूल्यों की स्थापना की है। उन मूल्यों एवं आदर्शों को अपने जीवन में अपनाने की आवश्यकता है। श्री पटेल ने कहा कि 500 वर्षों की लंबे प्रतीक्षा के बाद 22 अगस्त 2020 को प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भूमिपूजन किया गया। यह एक ऐतिहासिक क्षण था। उन्होने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से निश्चित रूप से देश के युवाओं को भगवान राम के जीवन से शिक्षा प्राप्त होगी और एक आदर्श समाज की स्थापना होगी।

कार्यक्रम में विधायक चुरहट शरदेन्दु तिवारी तथा विधायक धौहनी कुंवर सिंह टेकाम द्वारा अपने विचार व्यक्त किए गए। उन्होने कहा कि सोनांचल महोत्सव जिले की लोक संस्कृति को मंच देने का कार्य कर रही है। यह एक अच्छी पहल है तथा भविष्य में इसके संचालन के लिए प्रयास किए जायेंगे।
इस दौरान सोनांचल महोत्सव के आयोजक एवं भाजपा जिला अध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह, लोक रंग के संयोजक डां.अनूप मिश्रा, विचार संगोष्ठी के संयोजक बद्री मिश्रा, कवि सम्मेलन के संयोजक अशोक सिह बाबा, डॉ. राजेश मिश्रा, लालमणि सिंह, गीता सिंह भी उपस्थित रहे।


विचार संगोष्ठी के शुभारंभ में देश की सबसे छोटी लोक गायिका एवं बालकलाकार मान्या पाण्डेय एवं बालकलाकार श्रृजन मिश्रा के द्वारा स्वागत गीत एवं राम भजन की प्रस्तुति की गई। सोनांचल महोत्सव का मुख्य आकर्षण डॉ. अनूप मिश्रा के संयोजकत्व में आयोजित लोक कला की मनमोहक प्रस्तुति रही। जिले भर से आए लोक कलाकारों नें लोक संगीत के साथ लोक नृत्यों की मनमोहक प्रस्तुति की। जिसमें अहिराई लाठी, काली खप्पर, अहिराई शैला, लकडबग्घा, कर्मा, लोकनृत्य एवं संस्कार गीत, भगत, लोकगीतों की भी प्रस्तुति दी गई। लोक कला के आयोजन में इंद्रवती नाट्य समिति के संचालक नीरज कुंदेर, रोशनी प्रसाद मिश्रा, नारेन्द्र बहादुर सिंह, रजनीश जायसवाल, शिवनारायण कुंदेर, प्रजीत साकेत, संतोष द्विवेदी, रूपेश मिश्रा, रावेन्द्र प्रजापति, दिनेश जायसवाल, दीपेन्द्र बैस का विशेष योगदान रहा। शहर के मानस भवन व पूजा पार्क में आयोजित कार्यक्रमों में भारी संख्या में दर्शकों नें पहुंचकर अपनी सहभागिता निभाई। सोनांचल महोत्सव के संरक्षक व भाजपा जिलाध्यक्ष इंद्रशरण सिंह के नेतृत्व में आयोजित महोत्सव में प्रमुख रूप से डॉ. अनूप मिश्रा, बद्री मिश्रा एवं अशोक सिंह का विशेष सहयोग रहा। भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष प्रमोद द्विवेदी, महामंत्री सुनील सिंह सीएस एवं डॉ. विक्रम सिंह अपनें युवा साथियों को लेकर कार्यक्रम को सफल बनानें में जुटे रहे। उक्त कार्यक्रम में जिले के कोने-कोने से भाजपा के जिला एवं मंडल के कार्यकर्ताओं नें भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। कला एवं साहित्य से जुडे सभी कला प्रेमियों नें सोनांचल महोत्सव को यादगार बनानें में अपने-अपनें दायित्वों का सही तरीके से निर्वाह करते देखे गए।