बैंकों की जमा पूंजी 10.63 फीसदी बढ़ी, ऋण में 5.67 फीसदी की वृद्धि : आरबीआई

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

मुंबई बैंकों की शीर्ष निगरानी संस्था रिजर्व बैंक ने बताया कि छह नवंबर को समाप्त पखवाड़ा बैंकों के लिए उम्मीदों भरा रहा इस दौरान में बैंकों का दिया गया ऋण 5.67 प्रतिशत बढ़कर 104.04 लाख करोड़ रुपये हो गया। रिजर्व बैंक के आंकड़ों में यह पता चला। इस दौरान बैंकों के पास जमा 10.63 प्रतिशत बढ़कर 143.80 लाख करोड़ रुपये हो गई। आठ नवंबर 2019 को समाप्त पखवाड़े में बैंकों का ऋण 98.46 लाख करोड़ रुपये और जमा 129.98 लाख करोड़ रुपये पर थी। आंकड़ों के अनुसार, 23 अक्टूबर 2020 को समाप्त हुए पखवाड़े में बैंक ऋण 5.06 प्रतिशत और जमा 10.12 प्रतिशत बढ़ गई थी।

 

केंद्रीय बैंक के आंकड़ों के अनुसार, सालाना आधार पर सितंबर 2020 में गैर-खाद्य बैंक ऋण की वृद्धि दर घटकर सितंबर 2019 के 8.1 प्रतिशत की तुलना में 5.8 प्रतिशत पर आ गई। सितंबर 2020 में उद्योग ऋण की वृद्धि दर सितंबर 2019 के 2.7 प्रतिशत वृद्धि की तुलना में शून्य प्रतिशत रही। आलोच्य अवधि के दौरान कृषि और संबद्ध गतिविधियों के ऋण में 5.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई। साल भर पहले इसमें सात प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। पिछले साल सितंबर में सेवा क्षेत्र में ऋण की वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रही थ्री, जो बढ़कर 9.1 प्रतिशत हो गई। इस दौरान व्यक्तिगत ऋण की वृद्धि दर साल भर पहले के 16.6 प्रतिशत की तुलना में 9.2 प्रतिशत रही।