सबसे उम्रदराज किवी क्रिकेटर रीड नहीं रहे

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान और सबसे उम्रदराज क्रिकेटर जॉन रीड का निधन हो गया है। रीड 92 साल के थे। न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) ने बुधवार को यह जानकारी दी। रीड को 50 और 60 के दशक में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडरों में गिना जाता था। उन्होंने 34 टेस्ट मैचों में न्यूजीलैंड की कप्तानी की। उनकी कप्तानी में ही न्यूजीलैंड ने पहली तीन जीत दर्ज की थी। न्यूजीलैंड क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी डेविड वाइट ने कहा, ‘इस देश के लोग उनके नाम से वाकिफ थे और आगे भी रहेंगे। उनके संज्ञान में जो भी बात लायी गयी उन्होंने उसके लिए मार्ग प्रशस्त करने में मदद की।’ एनजेडसी की ओर से हालांकि उनके निधन के कारण के बारे में नहीं बताया गया है। रीड का जन्म ऑकलैंड में हुआ था पर उनकी शिक्षा दीक्षा वेलिंगटन में हुई। उन्होंने 246 प्रथम श्रेणी मैचों में 41.35 की औसत से 16128 रन बनाए जिसमें 39 शतक शामिल हैं। उन्होंने 22.60 की औसत से 466 विकेट भी लिए। आक्रामक बल्लेबाज और तेज गेंदबाज रीड ने 1949 में 19 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने 58 टेस्ट मैच खेले तथा 33.28 की औसत से 3428 रन बनाने के साथ 33.35 की औसत से 85 विकेट भी लिए थे। रीड ने टेस्ट क्रिकेट में छह शतक लगाए। उनका उच्चतम स्कोर 142 रन था जो उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 1961 में बॉक्सिंग डे टेस्ट में बनाया था।

 

 

उन्होंने 1965 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। इसके बाद में वह न्यूजीलैंड के चयनकर्ता, मैनेजर और आईसीसी मैच रेफरी भी बने थे। चार्ली का निधन  अमेरिकी एथलीट चार्ली मूरे का निधन हो गया है। 91 वर्ष के चार्ली ने हेलंसिकी ओलंपिक में साल 1952 में 400 मीटर बाधा दौड़ में स्वर्ण पदक जीता था।  विश्व एथलेटिक्स के अनुसार मूरे का अग्नाशय के कैंसर के कारण निधन हुआ। कॉर्नेल विश्वविद्यालय ने भी अपने स्कूल के पूर्व एथलेटिक निदेशक और स्टार एथलीट रहे चार्ली के निधन की बात कही है।  मूरे ने 1952 ओलंपिक में 400 मीटर बाधा दौड़ 50.8 सेकेंड में पूरी करके स्वर्ण पदक जीता था और क्वार्टर फाइनल में बनाये गये अपने ही ओलंपिक रिकार्ड की बराबरी की थी। उन्होंने हेलंसिकी में अमेरिका की ओर से चार गुणा 400 मीटर रिले में रजत पदक जीता था। ओलंपिक के बाद उन्होंने लंदन में ब्रिटिश एंपायर खेलों में भी शानदार खेल दिखाते हुए 440 मीटर बाधा दौड़ में 51.6 सेकेंड के साथ ही विश्व रिकार्ड बनाया था।