रेलवे ने की 3 जोड़ी और पूजा स्पेशल ट्रेनों की घोषणा

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

नई दिल्ली आगामी दशहरा, दीवाली और छठ जैसे त्योहारों के दौरान भीड़ को दूर करने के लिए और यात्रियों को बेहतर सुविधा सुनिश्चित करने के लिए पश्चिम रेलवे ने शनिवार को कहा कि तीन जोड़ी विशेष रेलगाड़ियां और चलाई जाएंगी। रेलवे द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, ओखा और गोरखपुर, सूरत और पुरी, और गांधीधाम और विशाखापत्तनम के बीच त्योहार स्पेशल ट्रेनों के तीन और जोड़े शुरू किए जाएंगे। विज्ञप्ति में कहा गया है कि दो और ट्रेनें जयपुर- हैदराबाद और उदयपुर – न्यू जलपाईगुड़ी पश्चिम रेलवे से होते हुए गुजरेंगी। रेलवे ने कहा कि जयपुर-हैदराबाद फेस्टिवल स्पेशल को छोड़कर सभी ट्रेनें साप्ताहिक रूप से चलेंगी। हैदराबाद फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन द्वि-साप्ताहिक होगी और यह कुल 22 यात्राएं करेगी। वेस्टर्न रेलवे ने इससे पहले ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी कि 12 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों में से पांच जोड़ी बांद्रा टर्मिनल से, 2-2 जोड़ी इंदौर और उधना से चलेंगी तो वहीं एक-एक चोड़ी ओखा, पोरबंदर और गांधी धाम स्टेशनों से चलेंगी। रेलवे का कहना है कि ये सभी गाड़ियां पूरी तरह से आरक्षित होंगी। इन स्पेशल ट्रेनों की बुकिंग आज यानी 17 से 22 अक्टूबर के बीच होगी।

 

 

टाटा-हावड़ा पूजा स्पेशल में बढ़ा किराया रेलवे ने टाटा-हावड़ा पूजा स्पेशल के एसी चेयरकार एग्जीक्यूटिव क्लास के किराए में 315 रुपये का इजाफा कर दिया है। स्टील एक्सप्रेस में किराया 1060 रुपये था। टाटा-हावड़ा पूजा स्पेशल ट्रेन में चेयरकार का किराया 1375 रुपये कर दिया गया है। इसी तरह एसी चेयरकार का किराया स्टील एक्सप्रेस में 445 रुपये था, लेकिन पूजा स्पेशल में इसका किराए में 110 रुपये की बढ़ोतरी कर इसे 555 रुपये कर दिया गया है। इसी तरह सेकेंड सीटिंग का किराया स्टील एक्सप्रेस में 125 रुपये था, लेकिन पूजा स्पेशल में इसके किराए में 10 रुपये की बढ़ोतरी कर इसे 135 रुपये कर दिया गया है। पूजा स्पेशल ट्रेन के नाम पर रेलवे ने ट्रेनों का परिचालन तो शुरू कर दिया है, लेकिन किराया में इजाफा कर दिया है। यात्री ट्रेनों का परिचालन नहीं होने से यात्रियों की परेशानी बढ़ी थी। अब बढ़े किराए से परेशानी होगी। इन ट्रेनों में वैसे ही यात्री सफर कर रहे हैं, जिन्हें यात्रा करना बहुत ही जरूरी है। इस कारण पहले ही दिन आधे से ज्यादा सीटें खाली रहीं।