पोषण माह में 35.17 लाख से अधिक लोगों की भागीदारी के साथ रोहतास जिला बिहार में अव्वल,पोषण अभियान डैशबोर्ड से हुआ खुलासा

लेटेस्ट खबरों को अपने Whatsapp पर पाने के लिए सबस्क्राइब करें

पोषण माह में अब तक लगभग 19 हजार गतिविधियां हुई आयोजित,जिले के अकोढ़ीगोला में हुई सबसे ज्यादा गतिविधियां सासाराम प्रखंड भी दूसरे स्थान पर पहुंचा।

अमित कुमार
सासाराम/रोहतास। जिले में 1 सितंबर से राष्ट्रीय पोषण माह अभियान की शुरुआत हुई है, जो पूरे माह मनाया जाएगा। पोषण माह के दौरान होने वाली गतिविधियों को लेकर पूरे माह का कैलेंडर पूर्व में ही जारी किया गया है। साथ ही इस दौरान आयोजित होने वाली समस्त गतिविधियों को पोषण अभियान के डैशबोर्ड पर डालने के निर्देश भी दिये गए थे। जिसके अनुसार पोषण माह में शुरुआती 9 दिनों में 35.17 लाख लोगों की भागीदारी हुई है। इस उपलब्धि के साथ जिला राज्य में पहला स्थान हासिल किया है। वहीं दूसरे स्थान पर छपरा जिला है।
लगभग 19 हजार से अधिक गतिविधियां आयोजित: जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुनीता कुमारी ने कहा की पोषण माह में बेहतर प्रदर्शन के लिए हम सभी विभागों के सहयोग के लिए धन्यवाद देते हैं। उन्होने यह भी बताया की रोहतास में पोषण माह में हुये अभिशरण बैठक द्वारा बेहतर प्रदर्शन में काफी सुबिधा हुई है और राष्ट्रीय पोषण में निर्धारित गतिविधियों के आयोजन को लेकर पहले दिन से ही प्रयास किए जा रहे हैं। अभी तक जिले में कुल 19595 गतिविधियां आयोजित की गयी हैं। जिसमें 35.17 लाख लोगों की भागीदारी सुनिश्चित कराते हुए उन्हें जागरूक किया गया है।
इतने लोग हुए शामिल:
• गतिविधियां: 19595
• पुरूष: 7.30 लाख लगभग
• महिला: 10.77 लाख लगभग
• बालक: 7.08 लाख लगभग
• बालीका: 8.48 लाख लगभग
जिले में अकोरिगोला प्रखंड पहले स्थान पर:
राष्ट्रीय पोषण माह अभियान के तहत जिले में अकोरिगोला प्रखंड ने गतिविधियों के मामले में पहला स्थान प्राप्त किया। अकोरिगोला प्रखण्ड मेँ अब तक 1914 से अधिक गतिविधियां आयोजित की गयीं है। वहीं दूसरे स्थान पर सासाराम प्रखंड है। सासाराम प्रखंड में अब तक 2002 गतिविधियां आयोजित की गयी हैं।
बेहतर प्रदर्शन करने वाले होंगे पुरस्कृत: अकोरीगोला की बाल विकाश परियोजना पदाधिकारी रीता कुमारी ने बताया पोषण माह अभियान में बेहतर कार्य करने वाले कर्मियों को पुरस्कृत भी किया जायेगा। इसके लिए कर्मियों को इनसेंटिव भी देने का प्रावधान किया गया है। सरकार के निर्देशानुसार कार्य किया जा रहा है। प्रतिदिन होने वाले गतिविधियों का डाटा पोर्टल पर अपलोड कराया जा रहा है।
सामुदायिक गतिविधियों से पोषण पर जागरूकता : पोषण माह के दौरान सामुदायिक स्तर पर आयोजित की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों का विशेष आयोजन किया जा रहा है। जिसमें अन्नप्राशन दिवस, गोदभराई एवं प्रारम्भिक बाल्यावस्था देखभाल एवं शिक्षा दिवस के आयोजन मुख्य रूप से शामिल है।
गृह भ्रमण पर बल: आँगनवाड़ी सेविका अपने-अपने पोषक क्षेत्र में पूर्व नियोजित घरों का भ्रमण कर रही हैं। साथ ही कमजोर नवजात शिशु की पहचान, 6 माह से अधिक उम्र के बच्चों को ऊपरी आहार, महिलाओं में एनीमिया की पहचान एवं रोकथाम तथा शिशुओं में शारीरिक वृद्धि का आंकलन करने का कार्य कर रही हैं।